वास्तु शास्त्र के अनुसार घर, टोटके हिंदी में |

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर , वास्तु शास्त्र के टोटके, नक्शा, वास्तु दोष से अपनो के जान माल सुरक्षित रखना कर्त्तव्य है जिन्हें जरूर अपनाये .

वास्तु शास्त्र का संबंध प्राचीन भारत से है वास्तुशास्त्र के नियमों का विधिवत पालन करके मनुष्य एक स्वस्थ जीवन व्यतीत कर सकता था, वास्तु शास्त्र की महत्व का उल्लेख हमारे शास्त्रों में विधिवत दिया गया है, प्राचीन समय में भारत वर्ष में वास्तु शास्त्र के अनुसार ही मंदिर और घर बनाए जाते थे जो उस समय अपना जीवन टेक्नोलॉजी न होते हुए भी सुख से व्यतीत करते थे आज विज्ञान और टेक्नोलॉजी कि आज आने के बाद भी वास्तुशास्त्र का अपना एक अलग पहचान है और लोग विज्ञान को धता बताते हुए वास्तुशास्त्र पर आज भी यकीन करते हैं |

इस लेख में मैं वास्तु शास्त्र की ऐसे टिप्स दूंगा जिन्हें अपनाकर आप तरक्की और समृद्धि के रास्ते पर अग्रसर हो सकते हैं और अपने जीवन को खुशहाल बना सकते हैं साथ ही साथ आपके अंदर एक अलग तरह की ऊर्जा का संचार होगा इन बेहद आसान उपायों को अपनाएं और वास्तु शास्त्र को अपने जीवन में लाकर अपने घर परिवार में खुशियों का संचार करिए |

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर

  1. घर में तुलसी का पौधा गेट के पास अवश्य लगाएं जिससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है और घर में स्वास्थ्य संबंधी सभी समस्याओं का निवारण में तुलसी प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से जिम्मेदार होती है |
  2. घर में बंद घड़ी ना रखें जिससे आपके घर में नेगेटिव ऊर्जा का प्रसार होता है अगर घर में कोई घड़ी बंद है तो उसे बनवा लें अन्यथा घर से बाहर फेंक दें |
  3. अगर घर में मंदिर है और उस मंदिर में भगवान की मूरत है तो प्रतिदिन आप उन्हें फूलों का हार चढ़ाएं और अगले दिन फिर से पुराने हार हटाकर नए हार उन्हें पहनाए इससे घर में आपकी सुख और समृद्धि बनी रहेगी |
  4. घर के अंदर गार्डन में मौजूद सभी पौधों को प्रतिदिन पानी दें अगर पौधे पानी के अभाव में सूख जाते हैं तो आपके परिवार पर बड़ी विपदा आ सकती है |
  5. पूजा घर का स्थान हमेशा ईशान कोण में होना चाहिए वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा करने पर घर में खुशहाली और समृद्धि बनी रहती है और ऊर्जा का प्रवाह पूरे घर में होता रहता है |
  6. अपने घर में ज्यादा से ज्यादा खिड़कियां लगवाएं जिससे वास्तु दोषों से मुक्ति मिल जाती है |
  7. पूजा घर में शंख जरूर रखना चाहिए ऐसा माना जाता है कि शंख रखने से घर में शांति और खुशहाली बनी रहती है, और शंख को प्रतिदिन सुबह या फिर शाम में आपको शंखनाद करना चाहिए जिससे आपके अंदर मौजूद विकारों से आपको मुक्ति मिलती है तथा घर में ऊर्जा का प्रवाह होता है |
  8. नल या toti से बेवजह पानी को न गिरने दे जैसा कि आप जानते हैं जल ही जीवन है और जल की बर्बादी से व्यक्ति की आयु घटती है ऐसा पौराणिक कथाओं में लिखा हुआ है |

वास्तुशास्त्र से जुडी कुछ जरूरी बातें .

  • ज्योतिषी वास्तु के अनुसार घर की दिशा क्या होनी चाहिए ?

 ज्योतिषी वास्तु के अनुसार आपकी घर की दिशा पूर्व होनी चाहिए जिससे सुबह सुबह सूर्य की ऊर्जा मान किरणें आपकी घर में प्रवेश करती हैं और पूरे घर को ऊर्जा युक्त बना देती हैं |

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार शौचालय की स्थिति .

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का शौचालय हमेशा दक्षिण या दक्षिण पश्चिम दिशा की तरफ होना चाहिए और शौचालय का गटर के पश्चिम या उत्तर दिशा की ओर अग्रसर होना चाहिए |

  • घर में क्या रखना शुभ माना जाता है ?

घर में कलश रखना बहुत शुभ माना जाता है जिससे आपके घर में खुशियां आती हैं और घर में मौजूद सभी वास्तु शास्त्र खत्म हो जाता है और कलश को घर की किसी मंदिर में स्थापित करके रखना चाहिए

  • सोच करते समय मुख की दिशा क्या होनी चाहिए ?

 वास्तु शास्त्र के अनुसार शौच करते समय व्यक्ति के मुख की दिशा दक्षिण या पश्चिम होनी चाहिए |

वास्तु शास्त्र के टोटके

  • सीढ़ियों के नीचे क्या होना चाहिए ?

सीढ़ियों के नीचे कभी भी कूड़ा कबाड़ इकट्ठा नहीं करना चाहिए जैसे जूता सिलेंडर इत्यादि साथ ही सीढ़ियों के नीचे पूजा घर या बाथरूम का निर्माण न कराए जिससे वास्तु दोष उत्पन्न हो जाता है , सीढ़ियों से ऊपर या नीचे जाते समय पैरों की धूल पूजा घर बाथरूम में प्रवेश कर जाती है जिससे आपको गंभीर बीमारी के साथ-साथ वास्तु दोष जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है |

  • सीढ़ियों की संख्या कितनी होनी चाहिए ?

आपके घर में सीढ़ियों की संख्या विषम होनी चाहिए उदाहरण के लिए 511 1723 इत्यादि और सीढ़ियों पर हमेशा साफ सफाई होना चाहिए

मकान के वास्तु टिप्स

सीढ़ी का वास्तु दोष दूर करने का उपाय .

यदि आप की सीढ़ी में वास्तु दोष है तो आप सीढ़ी के जस्ट सामने वाली दीवार पर एक बड़ा शीशा लगा दें जिस पर आप की सीढ़ी का पूरा प्रतिबिंब दिखाई पड़े जिससे वास्तु दोष स्वत ही समाप्त हो जाता है |

  • घर में सेफ्टी टैंक कहां होना चाहिए ?

वास्तु शास्त्र के अनुसार सेफ्टी टैंक का निर्माण उत्तर पश्चिम दिशा में करना सबसे उपयुक्त माना जाता है, सेफ्टी टैंक की लंबाई पूर्व पश्चिम दिशा में होनी चाहिए |

  • किधर पैर करके सोना चाहिए ?
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार उत्तर दिशा में पैर करके सोना सबसे अच्छा माना जाता है जिससे सेहत समृद्धि और धन की प्राप्ति होती है |

नोट- लेख में दी गई जानकारी सुचना मात्र है जिसका उल्लेख शास्त्रों में किया गया है , इसे अपनाना या न अपनाना आप की मर्जी जिसके लिए हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं है |

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर, वास्तु शास्त्र के टोटके और उपाय के बारे में जानकारी कैसी लगी कमेंट कर के बताना न भूले धन्यवाद –

Leave a comment