hindi short stories for class 1

Short Moral Stories In Hindi For Class 1, 2, 3

Spread the love

मेरे प्यारे नन्हे-मुन्नो आज मैं आप के लिए ले कर आरहा हूँ। जिसे हमारे नाना-नानी और दादा-दादी सुनाया करते थे। जिसे पढ़कर आप के मन में ईमानदारी और नैतिकता का भाव जग उठेगा और आप सच्चाई की राह पर चल पड़ेंगे। short moral stories in hindi for class 1, 2, 3 & hindi story for kids

Highly satisfied User

94%

Moral stories in hindi

1-तितली और फूल की कहानी

तीन तितलियाँ जो घनिष्ठ मित्र थी एक शाम वो घर का रास्ता भटक जाती है।तितलियों ने एक तालाब के किनारे एक खिलखिलाता फूल देखा ! आज रात उसी फूल पर गुजारने का फैसला किया।ये तीनो फूल की पंखुड़ियों पर बैठ कर सो जाती है ! तितलियों को देख फूल गुस्से से किलकिला उठता है।

Short Moral Stories In Hindi For Class 1, 2, 3
butterfly Moral Stories In Hind

मध्य रात्री में फूल ने अपनी पंखुड़ियों को बंद कर के उन तितलियों को फसा लिए जिससे उनकी मौत भी हो सकती थी।सुबह होने पर तितलियों ने फूल से आग्रह किया कि मुझे छोड़ दो। 

लेकिन फूल ने उन बिचारी मासूम तितलियों की एक न सुनी।तितलियाँ अब थक-हार चुकी थी उन्हें अब बचने का कोई मार्ग नहीं दिख रहा।

क्या तितलियाँ मर जाती है?

तभी सूरज की लालिमा युक्त किरणों के साथ शिकारी टिड्डो का एक समूह उस फूल पर टूट पड़ता है।पल भर में टिड्डो के समूह ने उस सुंदर फूल के पंखुड़ियों को खा कर नस्ट कर दिया।

तीनो तितलियाँ अब आजाद हो चुकी है और फूल का घमंड और सुंदरता दोनों नष्ट हो चुके है।इस प्रकार से एक घमंडी फूल को सजा मिल जाती है।

Moral- दूसरों का बुरा करने वाले को खुद सजा भुगतनी पड़ती है।

तितलियों से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • तितलियाँ स्वाद Taste अपने पैरो से लेती है।
  • ठंड में उड़ नहीं सकती।

आगे हम पढ़ेंगे कुछ और short moral stories in hindi for class 1, 2, 3 & hindi story for kids

2-कुत्ता और बैल की कहानी

गांव में एक किसान रहता था जिसके पास दो पालतू जानवर बैल और कुत्ता । बैल खेती-बाड़ी में लगा रहता था और कुत्ता खेतो की रखवाली करता था।

Short moral stories in Hindi for class 1
Dog and ox moral story

कुत्ता बड़ा शरारती था लेकिन बैल निहायत सीधा-सादा था। दोनों प्रतिदिन किसान के घर से खेत की तरफ गांव के रास्ते से होकर जाते थे।

कुत्ता घर से जाते समय दूसरे किसानो के खेत-खलियानों और अन्य सामान को नष्ट या छतिग्रस्त कर देता है ।गांव वाले बैल को पकड़ कर पिटाई कर देते है। क्यों कि कुत्ता भाग जाता है !

प्रति दिन कुत्ते की वजह से बैल को मार पड़ती है। गलती कुत्ता करता था पीटा बैल जाता था। अब बैल ने कुत्ते के साथ खेत में जाने से मना कर दिया फिर क्या ?

कुत्ता अकेले ही खेत की रखवाली करने जाता है।

लेकिन उसकी शरारती आदते पुरानी ही थी ! आज कुत्ते को फसल फसल नष्ट करते देख किसानो ने उसे जम के लाठी-दण्डो से पिटा।

बुरी तरह घायल कुत्ते को आज अपनी गलतियों का एहसास हो चूका था। उसने बैल से माफ़ी मांगी अब दोनों साथ मिलकर रहते है।

मोरल- विप्पतियाँ जब अपने पर पड़ती है तभी उनका अहसास होता है।

कुत्ते से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • एक कुत्ते की सूंघने की क्षमता इंसानों की तुलना में 10000 गुना होती है
  • 1 साल का कुत्ता 15 साल के इंसान के जितना समझदार होता है

3-कछुआ और मुर्ख रानी

(short moral stories in hindi)

  एक राज्य में एक ईमानदार राजा रहते थे जो बेहद न्याय-प्रिय थे । एक दिन रात को पास के तालाब से एक कछुआ निकल कर गलती से राजा के दरबार में आ जाता है।

महारानी की नजर उस कछुए पर पड़ती है डर कर चिल्लाने लगती है ” जिसे वो सैतान समझ बैठी ” क्यों की इसके पहले कभी भी कछुए नहीं देखे थे।

कछुआ सैनिको द्वारा गिरफ्तार कर लिया जाता है। अगले दिन सुबह कछुए और रानी को दरबार में राजा के सामने प्रस्तुत किया जाता है।

रानी ने राजा से कछुए को मौत की सजा देने का आग्रह किया।  क्योंकि उस राज्य में रात के समय किसी अनजान व्यक्ति के घर में घुसने की सजा मौत थी।  किसका प्रावधान खुद राजा ने किया था।

राजा धर्म संकट में पड़ गया रानी को न्याय देना चाहता था साथ ही कछुए को बचाना भी चाहता था।

सभी दरबारी ध्यान से सुन रहे थे किसी को कुछ समझ नहीं आरहा था। की क्या करे ?

कछुए को मौत की सजा

तभी एक गड़ेरिया खड़ा हुआ- और बोला महाराज इस कछुए को ” पहाड़ियों के ऊपर से तालाब में फेक दिया जाये ” जिससे वह मर जायेगा।

रानी ने तुरंत जवाब दिया है,” हाँ महाराज यही सही होगा।”  

जिसे सुनकर महाराज मुस्कराये और गड़ेरियों को धन्यवाद दिया ! सुझाव देने के लिए।

सैनिको ने कछुए को पहाड़ियों के ऊपर ले जाकर बीच तालाब में फेक दिया । कछुए ने राजा को धन्यवाद कहा।

क्यों की वह जिंदा है और अपने घर तालाब में भी पहुंच गया।

इस प्रकार से मुर्ख रानी को न्याय और कछुए को जीवन भी मिल गया।

मोरल – कभी-कभी झूठ बोलने से किसी की जान बच जाये तो उसे करने में कोई बुराई नहीं।

कछुआ से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • कछुआ अपने अंडे जमीन पर देता है।
  • कछुआ साँप की प्रजाति में रखा जाता है।

4-शराबी मक्खी और शेर Short moral stories in Hindi for class 1

Short Moral Stories In Hindi For Class 1, 2, 3
Moral Stories मक्खी और शेर

एक दिन एक मक्खी ने शराब की बोतल देखी। वह उसमे घुस कर मौजूद शराब की कुछ मात्रा का सेवन कर लेती है ।

मक्खी नशे में झूमने लगी । फिर वह पास में जानवरो के गोबर पर जा बैठी “, तभी उस रस्ते से एक शेर गुजरता है शेर गोबर से आर ही दुर्गन्द  के कारण दूर भाग खड़ा होता है।

मक्खी गोबर पर बैठी शेर को देख रही थी ! शराब के नशे में चूर मक्खी ने सोचा “शेर मुझे देख कर डर रहा”

क्या सच में मक्खी को देख कर शेर दर गया था ? जानने के लिए आगे पढ़े। ….

फिर क्या ? मक्खी  ने शेर का रास्ता रोक लिया और शेर को लड़ाई की चुनौती देने लगी।

पहली बार शेर ने उसकी इस हरकत पर ध्यान नहीं दिया ।

मक्खी ने शेर का रास्ता दुबारा रोक लिया। शेर गुस्से में आकर मक्खी को पंजे से मसल देता।  

मक्खी की मौत हो जाती है।

मोरल-हमें अपने से बलवान व्यक्ति को चुनौती नहीं देनी चाहिए।

रोचक तथ्य

  • Female house fly एक महीने में २००० से ज्यादा अंडे दे सकते है।

short moral stories in hindi for class 1, 2, 3

5-मेढक और मछली

Short moral stories in Hindi for class 1
Moral stories for kids

एक तालाब में मछलियों के बीच एक मेंढक रहता था मेंढक के साथ उसके दो बच्चे भी रहते थे जो बहुत छोटे थे। एक दिन मेंढक को एक सिर्फ सर्प ने निकल लिया और  उसके दोनों बच्चे अनाथ हो जाते हैं।

ज्यादातर मछलियों ने मेंढक के इन दोनों बच्चों को सताना और मारना शुरू कर दिया।  तभी एक बुजुर्ग मछली ने आगे आकर इन दोनों मेंढक के बच्चों का लालन-पालन किया।

मेंढक के बच्चे अब जवान हो चुके थे। गर्मियों के सीजन में सूखा पड़ जाता है और उस तालाब की मछलियां एक-एक करके मरने लगती है।

कुछ ही दूरी पर दूसरे तालाब में पर्याप्त मात्रा में पानी था। जिस मेंढक से मछलियां कभी आंखें नहीं मिलती थी आज वही मेंढक सामने आते है और एक-एक कर मछलियों को अपने ऊपर बैठा कर दूसरे तालाब तक सुरक्षित ले जाते है।

आज मेंढक के कारण ही सभी मछलियां जीवित है।

Moral- तो बच्चों हमें इस कहानी से यही शिक्षा मिलती है कि हमें कभी किसी का अपमान नहीं करना चाहिए चाहे वह कितना भी छोटा क्यों ना हो वह हमारे लिए कभी ना कभी बहुत काम का हो सकता है।

मेढक और मछली के कुछ रोचक तथ्य :

  • मेढक मुख से पानी नहीं पीता ! पानी Skin से absorb करता है !
  • मेढक की कुछ कोशिका 1.5 Km दूर तक की आवाजे सुन सकती है!
  • मछली पानी के अंदर ही gills के द्वारा श्वसन करती है !

click hear to read more story in english

 आप हमारे साथ इसी तरह बने रहे मैं आपके लिए इस तरह की कहानियां ले के आता रहूँगा जो आपके मन को गुदगुदा के रख देंगी।

बच्चों आप लास्ट में अपना कमेंट करना ना भूलें जो हमें इस तरह कि कहानियां लेकर आने के लिए प्रेरित रहेंगी  धन्यवाद ।

short moral stories in hindi for class 1, 2, 3

moral story in hindi for class 3

नमस्कार दोस्तों मैं अलोक यादव ब्रांडकीकहानी का Author & Co-Founder हूँ। , मुझे कहानी-किस्से सुनने-सुनाने में काफी मजा आता है।
आप के लिए न्यू और मजेदार कहानियां लेकर आता रहता हूँ। आप लोग इसी तरह अपना प्यार बनाए रखिए मैं आप के लिए मजेदार कहानिया लेकर आता रहूँगा।

Alok Yadav

Founder

Click hear for more short moral stories in hindi for class 1, 2, 3

3 thoughts on “Short Moral Stories In Hindi For Class 1, 2, 3”

Leave a comment