Spread the love

दोस्तों आजकल हर कोई मोटी कमाई के चक्कर में यह जानना चाहता है कि शेयर मार्केट कैसे सीखे और क्या है शेयर मार्केट के नियम, टिप्स . शेयर मार्केट का गणित समझे बिना ही शेयर मार्केट की शुरुआत कर देते हैं और ऐसे में वह अपने घर की जमा पूंजी भी गंवा बैठते हैं।
दोस्तों आज हम शेयर मार्केट से जुड़े कुछ सवालों पर चर्चा करेंगे ..

share market kaise sikhe
1. शेयर कैसे खरीदते हैं ?
2. शेयर बाजार में कैसे निवेश की शुरुआत करें ?
3. न्यूनतम राशि शेयर बाजार में निवेश करने के लिए कितनी होनी चाहिए।
3.शेयर मार्केट को कैसे समझें ?
4. शेयर बाजार होता क्या है ?

शेयर बाजार से जुड़ी सारी जानकारियों को हमने इस एक पोस्ट में समेटने की कोशिश किया है जिससे आपको पढ़ कर बहुत ही अच्छा अनुभव प्राप्त होगा.

What is Stock Market : शेयर बाजार क्या है ?

शेयर बाजार के द्वारा कंपनी अपनी हिस्सेदारी को बेचती हैं। कोई नई कंपनी जैसे ही मार्केट में आती है तो उसके पास पर्याप्त मात्रा में रुपया नहीं होता है तो वह हिस्सेदारी के रूप में शेयर को लांच करती है और जिससे शेयर धारक उस शेयर को खरीदते हैं और कंपनी के पास पर्याप्त मात्रा में धन इकट्ठा हो जाता है।

कंपनी अपना इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करके। सर्विसेस या गुड्स बेचती है जब कंपनी को पर्याप्त मात्रा में प्रॉफिट होती है तो उसी के अनुसार शेयरधारको द्वारा किए गए इन्वेस्टमेंट के आधार पर हमको मुनाफा प्राप्त होता है। पर याद रखें कंपनी को हानि होने पर कंपनी के शेयर भाव नीचे चले जाएंगे जिससे इन्वेस्टर को नुकसान भी सहना पड़ेगा। स्टॉक मार्केट के द्वारा हम अपनी मनपसंद बिजनेस में पैसा लगाकर ओनर बन जाते हैं।

शेयर का मतलब अंश भी होता है अंश का मतलब एक हिस्सा जो कंपनी अपने पास रखे हुए होती है।कंपनी जितने चाहे उतने हिस्से बना सकती है लेकिन एक निश्चित धनराशि के अंदर ।

नोट- शेयर बाजार के मूल्य में उतार-चढ़ाव उसकी मांग के अनुसार होता है।

What is I P O : आईपीओ क्या है ?

जब कोई कंपनी मार्केट में पहली बार। जनता से पैसे मांगती है अपने शेयर लांच करके इसे ही initial public offering बोलते हैं। इनिशियल पब्लिक ऑफर को public issue भी बोलते हैं।

कोई भी कंपनी आईपीओ बस एक बार शुरुआत में लांच करती है। उसके बाद आपके पैसे उसमें काफी लंबे समय के लिए जमा हो जाते हैं। लेकिन एक्सचेंज मार्केट के द्वारा हम अपने शेयर को दूसरे व्यक्ति के पास बेचकर मुनाफा कमा सकते हैं।

स्टॉक एक्सचेंज :

यह वह बाजार है जहां पर जब चाहे अपनी शेयर हम बेच या खरीद सकते हैं। यहां पर कंपनी से कोई लेना देना नहीं होता और एक्सचेंज मार्केट में प्रतिदिन शेयर के भाव कम या ज्यादा होते रहते हैं।

भारत में एक्सचेंज मार्केट!

भारत में दो एक्सचेंज मार्केट है जहां पर आप अपना पैसा लगा सकते हैं।

  1. B S E Bombay Stock Exchange – यहां पर 5000 से ज्यादा कंपनियां लिस्टेड है और इनके शेयर धारक मौजूद है ,आप उनसे शेयर खरीद और भेज सकते हैं।

सेंसेक्स (Sensex)– सेंसेक्स बीएसई का तरीका है। यह लोगों को मार्केट का भाव बताता है कि शेयर के भाव ज्यादा या कम हो रहे हैं यहां पर। टॉप 30 लिस्टेड कंपनी के उतार-चढ़ाव भाव का लेखा जोखा प्रस्तुत किया जाता है।

शेयर मार्केट कैसे सीखे

  1. NSE (national stock exchange ) N S E मे 1600 से ज्यादा कंपनियां लिस्टेड है , जहाँ पर शेयर धारक प्रतिदिन अपने शेयर का लेनदेन करते हैं।

Nifty NSE का तरीका है जो शेयर के भाव मतलब उतार-चढ़ाव को दर्शाता है। इसमें लगभग 50 कंपनियों को शामिल करके उनका एवरेज हमारे सामने प्रस्तुत किया जाता है।

शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाए ?

यह सवाल हर व्यक्ति के जहन में होता है कि शेयर मार्केट से पैसे कमाए यूं तो शेयर मार्केट कहने और सुनने में बड़ा आसान लगता है लेकिन वास्तव में यह एक जटिल प्रक्रिया है। इसको समझने के लिए आपको शेयर मार्केट की गणित को समझना पड़ेगा।

वैसे तो शेयर मार्केट में पैसे कमाने के लिए किसी विशेष डिग्री या एक्सपर्टीज की जरूरत नहीं पड़ती। व्यक्ति अपने अनुभव और तजुर्बे के आधार पर अच्छा पैसा कमा सकता है।

शेयर मार्केट का गणित।

वैसे तो शेयर मार्केट का गणित बहुत ही सीधा साधा है। यहां आपको पैसे लगाकर शेयर खरीदने हैं और शेयर के भाव बढ़ जाने के बाद उन शेर को बेचकर मुनाफा कमा लेना है।
वास्तव में शेयर मार्केट का गणित बहुत ही पेचीदा है। इसमें आपकी मेहनत किस्मत और आपकी एनालिसिस किसी पर्टिकुलर कंपनी के बारे में पूरी जानकारी लेनी होती है तब जाकर आपको सफलता मिलती है।

शेयर बाजार में निवेश करने के लिए न्यूनतम राशि।

वैसे तो शेयर बाजार में निवेश करने के लिए किसी न्यूनतम राशि की बाध्यता नहीं है। आप 100 ,200 ,500 रु से भी स्टार्ट कर सकते हैं।

ट्रेडिंग के प्रकार।

शेयर खरीदने और बेचने की कुछ नियम है। इन्हीं के आधार पर हमने ट्रेडिंग को चार भागों में बांटा है। इनके नियमो का पालन करते हुए आपको व्यापार करना है।

  • Intraday trading – यह सबसे जोखिम भरा ट्रेडिंग है, इसमें जिस दिन आप शेयर खरीदते है उसी दिन बेचना भी होता है। इंट्राडे में बहुत जल्दी जल्दी उतार और चढ़ाव देखने को मिलते हैं। नए लोग इस प्रकार की ट्रेडिंग से दूर रहें, पर काम पैंसे लगाकर सीख सकते है।
  • स्विंग ट्रेडिंग- किस प्रकार की ट्रेडिंग कुछ दिन से लेकर कुछ सप्ताह तक के लिए वैद्य होती है। इस प्रकार की ट्रेडिंग इंट्राडे की अपेक्षा हाई रिटर्न तथा कम रिस्क वाली होती है जिससे ज्यादातर लोग करना पसंद करते हैं।
  • शार्ट ट्रेडिंग – शार्ट ट्रेडिंग कुछ वीक से लेकर कुछ महीनों तक वैध होती है। टारगेट प्राप्त हो जाने के बाद इसे क्लोज कर देना चाहिए।
  • लोंग टर्म ट्रेडिंग- इस प्रकार की ट्रेडिंग में आप अपने शेयर को कई वर्षों तक जब तक आपकी इच्छा हो अपने पास सुरक्षित रख सकते हैं। ऐसी ट्रेडिंग में हमें लगातार उतार और चढ़ाव देखने की आवश्यकता नहीं होती। इसमें लम्बे समय तक निवेश से बढ़िया रिटर्न की संभावना होती है।
  • पैसे कमाने के तरीके। इसे भी देखे

शेयर कैसे खरीदते हैं?

आपको शेयर खरीदने के लिए सबसे पहले एक ब्रोकर के यहां Demat & Trading account खुलवाना पड़ेगा। जिसका चार्ज तकरीबन 200 से 500 रु सालाना तक पड़ सकता है।

  • डिमैट अकाउंट- वह अकाउंट है जहां पर आपकी शेयर रखे जाते हैं। इसे शेयर लाकर के भी नाम से जाना जाता है।
  • ट्रेडिंग अकाउंट – जहां पर आपके शेयर खरीदे या बेचे जाते हैं जैसे पैसे का जाना और शेयर का आना या शेयर का आना और पैसे का जाना।
  • डिमैट एंड ट्रेडिंग अकाउंट दोनों एक साथ ही ओपन करे जाते हैं। उनको अलग अलग से ओपन कराने की आवश्यकता नहीं है

डिमैट अकाउंट कैसे खोलें ?

डिमैट अकाउंट खोलना बहुत ही आसान प्रक्रिया है। इसे आप अपने मोबाइल से 5 मिनट में ओपन कर सकते हैं। वेरिफिकेशन होने में 1 से 4 दिन तक का समय लग सकता है।

डिमैट अकाउंट खोलने के लिए जरूरी कागजात- आधार कार्ड, पैन कार्ड , फोटो, सिग्नेचर ,मोबाइल नंबर, अकाउंट नंबर , इंटरनेट बैंकिंग।

डिमैट अकाउंट कहां खोलें ?

वैसे तो डीमैट अकाउंट आप कहीं भी बोल सकते हैं, लेकिन हमेशा डिमैट अकाउंट एक ट्रस्टेड कंपनी के पास ही खोले क्योंकि आपका पैसा और शेयर उनके अकाउंट में सुरक्षित रहता है। नीचे कुछ कंपनियों के नाम दिए गए हैं जहां पर क्लिक करके आप अपना डिमैट अकाउंट ओपन कर सकते हैं और उनकी दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर आप संपर्क भी कर सकते हैं।

शेयर खरीदने से पहले कुछ जरूरी जानकारियां!

किसी कंपनी का शेयर खरीदने से पहले आप कंपनी के इतिहास को पढ़ें। उनके प्रोडक्ट के बारे में जानने की कोशिश करें। यूजर रिव्यु देखें। सालाना रिपोर्ट देखें कि इस वर्ष में इस कंपनी ने कितना प्रॉफिट कमाया है और इसका growth क्या रहा है, इसके सेल कैसे रहे हैं? इन सभी चीजों को बारीकी से जांच ने के बाद ही आप इन के शेयर खरीदे अन्यथा आपके पैसे डूब जाएंगे।

नए लोग स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट कैसे करें पूरी जानकारी हिंदी में।

जैसा कि आपको मालूम है, शुरुआत में हर कोई गलतियां करता है और गलतियों से ही सीखता है।

  • शेयर मार्केट की शुरुआत आप कम से कम बजट के साथ करें जैसे 1000 , 2000 रु से शुरुआत करें।
  • डिमैट अकाउंट कंपनी से जुड़कर उसकी डिटेल टोल फ्री नंबर पर कॉल करके लगातार जानकारियां लेते रहे।
  • इन्वेस्टिंग से जुड़ी किताबों को पढ़े ब्लॉग्स को पढ़ें। यूट्यूब का सहारा ले।
  • बिजनेस मैगजीन को पढ़ें जैसे फॉर्ब्स इंडिया बिजनेस एस इंडिया इत्यादि।
  • शुरुआत में आप स्विंग ट्रेडिंग या फिर लोंग टर्म ट्रेडिंग के लिए ही जाए इंट्राडे पर प्रयास ना करें।

मार्केट की चाल को पढ़ने की कोशिश करें। कैंडल स्टिक को देखें और उस पर रिसर्च करें और उस पर लिखी गई लोगों की बातों को भी ध्यान से पढ़ें।

शेयर मार्केट कैसे सीखे ?- Intraday tips

  • सही शेयर का चुनाव- अगर आप इंट्राडे करने की सोच रहे हैं तो उसके लिए सबसे पहले आपको सही शेयर का चुनाव करना है जहां आपको पूरे पैसे लगाने हैं।
  • इंट्राडे में आप उतार-चढ़ाव वाले शेयरों का चुनाव करें ताकि आप पैसे को कमा सकें ज्यादा से ज्यादा।
  • इंट्राडे की तैयारी 1 दिन पहले से ही स्टार्ट कर दें।
  • इंट्राडे में टॉप 30 फायदेमंद और नुकसान में रहने वाली शेरों का चुनाव करें और उनको बारी-बारी से अध्ययन करें।
  • टॉप 30 से केवल 4 या 5 शेरों का ही चुनाव करें जिसमें। पिछले 1 दिन पहले या तो तेजी दिखी हो या फिर उसमें लॉस्ट दिखा हो ऐसे शेयरों को अलग करें और इन पर ही पैसे लगाने की सोचे ।

Note– आमतौर पर देखा जाता है कि अगर किसी शेयर में आज तेजी देखने को मिलती है तो आने वाले 3 से 4 दिनों तक तेजी बनी रहने की उम्मीद रहती है या किसी शेयर में अगर आज नुकसान देखने को मिलता है तो आने वाले 3 से 4 दिनों तक उसमें नुकसान देखने को मिलता है।

✔ Always close all your open positions

TIMING IS CRUCIAL – मार्केट पर नजरे गड़ाए रखे समय न हो तो Intraday से दूर रहे।

  • सुबह बाजार खुलते ही सौदा नहीं डालना है। आपको 30 से 40 मिनट तक इंतजार करना है। उसके बाद मार्केट के हावभाव को देखना है कि क्या ATP जो उस पार्टिकुलर शेयर का है वह उसकी ग्रास प्रॉफिट ऊपर है तभी उसमें पैसा लगाएं ।
  • स्टॉप लॉस जरूर लगाएं क्योंकि इसके बिना बहुत ज्यादा नुकसान हो सकता है।
  • अगर आपको दो से तीन परसेंट का फायदा हो रहा है तो मार्केट से निकल जाए। लालच करना बुरी बात है।
  • उत्साह में आकर कभी भी सौदा ना डालें कि मार्केट ऊपर जा रहा है। यहां पर नुकसान जरूर होगा।
  • दिन के आखिरी घंटे में पैसा न लगाएं क्योंकि उस समय मार्केट बहुत तीव्र गति से ऊपर नीचे होता रहता है।

कुछ सवाल जवाब.

  • Q- क्या शेयर मार्केट में कोई भी पैसा लगा सकता है?
  • Ans – हां, शेयर मार्केट में कोई भी पैसा लगा सकता है। इसमें कोई पाबंदी नहीं है।
  • Q-क्या शेयर मार्केट हमेशा मुनाफा देता है?
  • Ans- नहीं कोई जरूरी नहीं है। यह आपकी मेहनत और लक पर निर्भर करता है।
  • Q- कौन से शेयर खरीदे?
  • Ans- आप कोई भी शेयर खरीदने लेकिन उसका ट्रेन्ड जरूर देख लें और उस कंपनी के बारे में कंप्लीट जानकारी जरूर जांच लें।
  • Q- क्या शेयर मार्केट में पैसा डूब जाता है?
  • Ans- नहीं कोई जरूरी नहीं, यह आपकी काबिलियत पर निर्भर करता है।

शेयर बाजार के मूल्य में उतार-चढ़ाव उसकी मांग के अनुसार होता है

दोस्तों मेरा नाम आलोक है। मैं पिछले 2 साल से इंट्राडे में शेयरिंग कर रहा हूं। बहुत ज्यादा तो नहीं 500 से 1000 रु तकरीबन हर दूसरे तीसरे दिन बना लेता हूं तो मैंने अपनी इस छोटी सी ट्रिक आप सभी के सामने बहुत अच्छे तरीके से शेयर करने की कोशिश करी है। आपको शेयर बाजार से जुड़ी जानकारियां कैसी लगी हमें कमेंट में बताना न भूलें धन्यवाद ।

शेयर मार्केट कैसे सीखे ? शेयर बाजार के नियम, टिप्स पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे।

www.brandkikahani.com

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *