Bhoot Story-भूतों के साथ दावत सच्ची कहानी

यह भूत स्टोरी ( Bhoot Story )बहुत ही रहस्यमय और भयानक है जिसे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे

बहुत समय पहले की बात है एक गांव में एक केवट रहता था जो पेशे से मजदूर था हुआ नदी पार करके प्रतिदिन गांव से मीलों दूर मजदूरी करने जाया करता था उसे प्रतिदिन आने में काफी देर हो जाया करती थी कभी-कभी रात के 12:00 बज जाया करते थे लेकिन उसकी एक बुरी आदत थी वह शराब अत्यधिक पीता था ।

bhoot story
bhoot story

शराब पी लेने के बाद उसके प्रवचन किसी राजा या महाराजा से कम नहीं हुआ करते थे । जैसे तैसे उसकी जिंदगी कट रही थी।

एक दिन शराब के नशे में वह काम से घर पर लौट रहा था वह रास्ता भटक जाने के कारण नदी का किनारा पकड़ के दूसरे छोर पर आगे बढ़ गया ।

डरावनी रात की Bhoot Story दिल थम के पढ़े-

“काली अंधेरी रात थी” तेज हवाएं चल रही थी ! पीपल के पत्तों से सरसराहट भरी आवाज आ रही थी। Bhut Story In Hindi

“दूर-दूर तक सिवान था जहां इंसानी बस्ती का कोई नामोनिशान तक नहीं था “ तभी केवट की निगाह खंडहर पर पड़ती है , जहां कुछ लोग चिंघाड़-चिंघाड़ खेल रहे थे जिनकी आवाज सुनकर कोई भी व्यक्ति डर से सहम जाए ।

bhoot story in hindi
Bhoot Story

दारू के नशे में केवट उनके पास तब चला जाता है और उनसे खाने के लिए कुछ भोजन मांगता है क्योंकि उसे भूख लग चुकी थी ।

भूत पिचास की आत्माएं थी जो प्रतिदिन रात में वहां उस खंडहर में आती थी उन भूतों ने केवट को अधपका मांस दिया खाने के लिए और उसने भूतों को शराब दिया पीने के लिए सभी रात भर इंजॉय किए और सुबह केवट अपने घर की तरफ निकल गया ।

अब केवट को जब कभी देर हो जाती थी तो उस खंडहर में चला जाता था और वहीं पर खाना पीना खाता था । story of bhoot


जैसे-तैसे अब उसका जीवन चलता रहा लेकिन उसे यह नहीं पता था कि वह जिनके साथ खाना खाता है वह भूत और पिचास है।

भूतिया कहानी- भूतिया चुड़ैल की कहानी पढ़ने के लिए Click hear

एक दिन उस केवट को उस खंडहर की असलियत पता चलती है कि वह प्रतिदिन भूतों के साथ खाना खाता है।

उसके बाद वह अचानक से ही बहुत बीमार पड़ जाता है मजदूरी पर जाना भी छोड़ देता है। अब वह कि वह गांव में ही मशीन पर रहने लगता है जहां एक चारपाई रखकर रात भर रखवाली करता है जिसे रख रखवाली के कुछ पैसे मिल जाया करते थे ।


भूतों को केवट की बड़ी याद आने लगी क्योंकि वह बहुत घनिष्ठ मित्र हो चुके थे।


Bhoot Story में एक रहस्यमई घटना घटती है –


रात में चारपाई सहित केवट उस खंडहर में पहुंच जाता था जिसे वो भूत-पिचास प्रतिदिन रात को उठा ले जाते थे।

सुबह होते ही जब उसकी नींद खुलती थी तो वह खटिया या चारपाई अपने सर पर लेकर घर की तरफ निकल पड़ता था यह उसका प्रतिदिन का क्रियाकलाप बन चुका था जिसे देख पूरे गांव वाले सहमे सहमे से रहने लगे ।

उस केवट के साथ लगातार यह घटना घटती रही गांव वालों ने बहुत छुप-छुप कर देखने की कोशिश करी लेकिन उनके हाथ कुछ भी नहीं लगा। bhoot story

सवाल जो लोगो को सोचने को मजबूर कर देता है कि वह केवट उन खंडहर तक पहुंच जाता है और सुबह खुद ही अपने सर पर चारपाई लेकर घर की तरफ आता है।


यह उस केवट के जीवन का एक अनसुलझा पहलू है जिसका जवाब शायद विज्ञान के पास भी नहीं है।
उस केवट की अब मौत हो चुकी है लेकिन उसकी कहानी गांव में अभी सुनाई जाती है और लोग तरह-तरह की चर्चा करते हैं ।

उसके बारे में जिसे सुनकर मैंने अपने इस भूतों की कहानी (Bhoot Story) में शामिल करने का फैसला किया तो मित्रों हम आपसे यह जानना चाहते हैं कि यह कहानी कैसी रही और आपकी प्रतिक्रिया हमारे लिए बहुत आवश्यक है।


गांव में एक कहावत भी है कि अगर भूत से दोस्ती कर ली जाए तो उसे तोड़ा नहीं जा सकता ।

Click hear story in english american literature

30 thoughts on “Bhoot Story-भूतों के साथ दावत सच्ची कहानी”

  1. Pingback: japanese lofi mix
  2. Pingback: relx
  3. Pingback: kardinal stick
  4. Pingback: homerite windows
  5. Pingback: cvvs dumps
  6. Pingback: najezykach.com.pl
  7. Pingback: Firearms For Sale
  8. Pingback: jetsadabet
  9. Pingback: ไฮโล
  10. Pingback: nova88
  11. Pingback: SIG SAUER SOJ3M001
  12. Pingback: mod
  13. Pingback: maxbet
  14. Pingback: Spellbreak cheats
  15. Pingback: youtube video
  16. Pingback: 足球世界盃

Leave a comment