best moral story in hindi

Best Moral Stories in Hindi-हिंदी कहानियाँ 2020

Spread the love

Best Moral Stories In Hindi For Kids which is very valuable for teaches and kids life lessons, which help your children to understand the humanity .

Best Moral Stories in Hindi

घमंडी मोर की कहानी।

एक मोर को अपनी सुंदरता पर घमंड हो गया था।

वह अक्सर जंगल में अपनी सुंदरता का नुमाइश जंगली जानवरों के सामने करता रहता था।

मोर जंगल में मौजूद पंछी तथा अन्य जानवरो के सामने नाचता रहता था। अपनी सुंदरता को लेकर और बड़ी-बड़ी बातें किया करता था। मैं तो ऐसा हूं। मैं तो वैसा हूं। मैं दुनिया का सबसे सुंदर पंछी हूं।
साथ ही साथ उसके दो – चार चाटुकार दोस्त भी अपने पास रखता था जो अक्सर उस मोर की बढ़ाई अन्य जानवरों से किया करते थे।

अब तो मोर की बढ़ती ख्याति से जंगली जानवरों को जलन सी होने लगी थी । मोर को अपनी सुंदर बड़े पंखों पर घमंड हो चला था ।

एक रोज जंगल में तालाब के किनारे मोर ने एक विचित्र पंछी देखा, जो देखने में बहुत सुंदर था, बहुत ही मनमोहक लग रहा था लेकिन आकार में छोटा था। मोर ने सोचा चलो इसे भी अपनी सुंदरता दिखाते हैं।

मोर उस पंछी के पास जाकर बोला, तुम कौन हो? पंछी ने जवाब दिया, मैं एक हंस हूं। मोर ने कहा ओह तुम ही हंस हो , तुम्हारा नाम तो बहुत सुना था लेकिन तुम देखने में इतनी सुंदर नहीं हो।

क्या मोर का घमंड टूटेगा ?

मुझे देखो मेरे पास सुंदर पंख हैं जो दुनिया के सबसे खूबसूरत है। हंस बड़ी शालीनता से मोर की बातों को सुन रहा था।

तभी हंस ने जवाब दिया। दुनिया के सबसे खूबसूरत पंख तुम्हारे पास जरूर हो सकते हैं, लेकिन वह किसी काम के नहीं है।

मोर ने कहा तुम यह कैसे कर सकते हो ? तभी हंस ने अपने पर फैलाए और दूर हवा में गोते लगाते हुए पल भर में मोर के पास आकर बैठ गया।

हंस ने जवाब दिया क्या तुम्हारे पर इतने मजबूत है ! कि तुम मेरी तरह उड़ सकते हो और हवा में गोते लगा सकते हो?

मोर आज जानवरों के बीच शर्मिंदा हो चुका था। जिसके पास हंस के सवाल का जवाब नहीं था।

मोर झुकी हुई नजरों से हंस की बातें सुनता रहा और अंत में निराश होकर जंगल की तरफ चला जाता है।

आज मोर का घमंड टूट कर चकनाचूर हो चुका था।

मोर को देख सभी जंगली जानवर बड़े खुश हुए कि आज मोर को किसी ने सबक सिखा


नैतिक शिक्षा-अहंकार व्यक्ति को समाज में कभी न कभी लज्जित कर ही देता है।


चालाक दूधवाला -Best Moral Stories in Hindi

एक गांव में एक दूधवाला रहता था जिसका नाम महावीर था।

दूधवाला मिट्टी के बने मटके (पात्र ) में प्रतिदिन तो लेकर बाजार जाया करता था बेचने के लिए।

दीपावली का दिन था। और शहर में दूध की मिलावट खोरी के खिलाफ! अभियान चलाया गया।

सभी दूध वालों के दूध को जप्त कर लिया गया तथा उन पर फाइन लगाया गया।

प्रशासन की मौजूदगी में अधिकारियों के द्वारा महावीर को रास्ते में रुकवाया गया।

क्या दूध वाला पकड़ा जायेगा जानने के पढ़े ?

दूध वाला अब डर सा गया था। तभी उसके मन में एक विचार आया।

दूधवाले ने अधिकारियों से कहा कि उसके सर पर रखा मिट्टी का पात्र भारी है। कृपया उसे उतरवा कर उसका सैंपल ले।

एक अधिकारी दूध वाले का मटका पकड़कर उतारने लगा तभी दूधवाले ने अपना मटका हाथ से छोड़ दिया।
दूध से भरा मटका जमीन पर गिर के चकनाचूर हो गया ।

उसके तुरंत बाद वह दूध वाला उन अधिकारियों से झगड़ पड़ा और उनसे नुकसान की भरपाई करने के लिए कहने लगा।

जिसे देख भीड़ इकट्ठी होने लगी और अधिकारियों ने उस दूध वाले को पैसा देना ही सही समझा । अधिकारियों ने उस दूध वाले को नुकसान हुए दूध का पूरा पैसा दिया।

उस चालाक दूधवाले ने खुद ही अधिकारियों से दंड स्वरूप पैसा वसूल लिया।

कैसी लगी आपको इस चालाक दूधवाले की कहानी?

इस कहानी को बताने वाले दादा जी आज हमारे बीच नहीं है !

New Best Moral Stories in Hindi click hear

Best moral story in English click hear


नैतिक शिक्षा -ज्ञानी और चालाक व्यक्ति विपत्तियों से निकलने का रास्ता ढूंढ ही लेता है

best moral story in hindi

Best Moral Story In Hindi For Kids which is very valuable for teaches and kids life lessons.दोस्तों मैं अलोक यादव ब्रांडकीकहानी का Author & Co-Founder हूँ। आप के लिए न्यू और मजेदार कहानियां लेकर आता रहता हूँ। आप लोग इसी तरह अपना प्यार बनाए रखिए मैं आप के लिए मजेदार कहानिया लेकर आता रहूँगा।

Alok yadav

www.brandkikahani.com

Bhoot Ki Kahani-भूत करने लगता है खेत की सिचाई, जाने पूरा सच..

Spread the love

बहुत समय पहले की बात है एक गांव में दुलार और शोधन नाम की दो भाई रहते थे इनका मुख्य व्यवसाय कृषि था, वह खेती करके बहुत ढेर सारा अनाज पैदा कर लेते थे जिनके चर्चे गांव में अक्सर हुआ करते थे ,

Continue Reading Bhoot Ki Kahani-भूत करने लगता है खेत की सिचाई, जाने पूरा सच..

Leave a comment