Spread the love
bachon ki kahani in hindi
bachon ki kahani in hindi

बच्चों की ज्ञानवर्धक कहानियां ( bachon ki kahani in hindi ) जो इनके जीवन को नया आयाम देतीं है। हिंदी कहानियाँ इन बच्चो की तर्क शक्ति आदर्श और मूल्यों में चार चाँद लगा देती है।

बच्चों की कहानियां

एक समय की बात है। जंगल में एक शेर तथा उसका पूरा परिवार रहता था। सर्दियों के मौसम में शेरनी ने दो बच्चे दिए।

शेर के बच्चे बहुत ही मासूम तथा दिखने में अत्यधिक सुंदर थे। शेर दिन भर उनकी देखभाल करता था और उनके खाने-पीने का इंतजाम भी करता था।

अकेले ही खाने पीने की वस्तुओं की आपूर्ति पूरी नहीं कर सकता था क्योंकि उसके परिवार में
सदस्यों की संख्या बढ़ चुकी थी।

फिर: शेर और शेरनी ने साथ साथ मिलकर शिकार पर जाने का फैसला किया।लेकिन उनको अपने बच्चों की चिंता सता रही थी कि उनकी देखभाल कौन करेगा जब वे दोनों शिकार पर जाएंगे तो ?

bachchon ki nayi hindi kahaniya

शेर ने काफी सोचने विचारने के बाद अपने बच्चे की रखवाली के लिए एक गधे को नियुक्त किया।
गधा बहुत ही मेहनती था जो उसी जंगल में रहता था।

अब शेर-शेरनी प्रतिदिन प्रातः काल शिकार के लिए निकल जाता था और गधा बच्चों की देखभाल करता था तथा दिन भर। गुफा के चारों तरफ। रखवाली करता रहता था कि कोई जंगली जानवर उधर ना आ जाए।

एक रोज शेर और शेरनी शिकार पर चले जाते हैं और गधा उन बच्चों की देखभाल कर रहा होता है। कुछ समय बाद शेर के दोनों बच्चे आराम से सो जाते हैं तभी उन बच्चों के ऊपर मक्खियां आकर बैठने लगती है ।

baccho ki kahani suno

गधे को मक्खियों का बर्ताव बुरा लगा।

मक्खियों को शेर के बच्चों के ऊपर बैठा देख गधा। उनको वहां से भगा देता है मारकर कुछ समय बाद फिर से वह मक्खियां आकर उन बच्चों के ऊपर बैठ जाती हैं।

फिर से उन्हें भगा देता है। मक्खियों को देखकर गधा गुस्से से आगबबूला हो चुका था ।

उसने मक्खियों को कठोर सबक सिखाने का प्रण लिया।

कुछ समय बाद मक्खियां पुनः आकर उन बच्चों पर बैठ जाती हैं ।

गधा बड़ी चालाकी से खड़ा हुआ और उन मक्खियों के ऊपर झम्म से कूद पड़ा। मक्खियां तो उड़ गई लेकिन दोनों मासूम बच्चे नीचे दबकर मर गए।

नैतिक शिक्षा- मूर्ख आखिर में मूर्ख ही होता है।

bachon ki kahani in hindi आप को कैसी लगी बताना न भूले


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *